Source: 
Author: 
Date: 
20.12.2017
City: 

डिजिटल डेस्क, मुंबई। प्रदेश के आठ नगर परिषद में हुए चुनाव और उपचुनाव में विजयी हुए नगरसेवकों में से 8 प्रतिशत आपराधिक पृष्ठभूमि के हैं। अमरावती की चिखलदरा, यवतमाल की पांढरकवडा, नांदेड़ की किनवट, कोल्हापुर की हुपरी नगर परिषद के चुनाव और अंबेजोगाई, शहाडा, मांगूरलपीर और जिंतूर नगर परिषद के उपचुनाव में विजयी 74 में से 6 नगरसेवक (8 प्रतिशत) आपराधिक पृष्ठभूमि के हैं। भाजपा का 1, प्रहार जनशक्ति पक्ष का 1, राष्ट्रवादी कांग्रेस का 1, शिवसेना का 2 और निर्दलीय 1 नगरसेवक हैं। इसमें 4 नगरसेवकों पर हत्या का प्रयास और धमकाने जैसी गंभीर मामले दर्ज हैं। 

एडीआर और महाराष्ट्र इलेक्शन वॉच की रिपोर्ट में हुआ खुलासा

एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफार्म (एडीआर) और महाराष्ट्र इलेक्शन वॉच की रिपोर्ट में यह जानकारी सामने आई है। रिपोर्ट के अनुसार निर्वाचित 74 में से 9 नगरसेवक करोड़पति हैं। करोड़पति नगरसेवकों में सबसे अधिक भाजपा के 4, कांग्रेस के 2, राष्ट्रवादी कांग्रेस के 2 और शिवसेना के 1 नगरसेवक है। पंढरकवडा नगर परिषद के प्रभाग क्रमाक 9 अ सीट पर विजयी शिवसेना के नगरसेवक संतोष बोरेले के पास कुल 14.45 करोड़ से अधिक संपत्ति है। संतोष ने 2 करोड़ रुपए का कर्ज भी लिया है। इस तरह से ही राजनीति में अपराधी छवि के नेताओं की वृद्धि चिंता का विषय है। अपराधी छवि के नेता न केवल पार्टियों से टिकट पाते हैं बल्कि जीत भी जाते हैं। 

10 नगरसेवकों ने अपनी आय 2 लाख से कम बताई

चिखलदरा नगर परिषद के प्रभाग क्रमांक 8 ब सीट पर जीती कांग्रेस उम्मीदवार सुवर्णा चांदमी ने अपनी संपत्ति शून्य घोषित की है। 10 नगरसेवकों ने अपनी आय 2 लाख रुपए से कम बताई है। निर्वाचित कुल 74 नगरसेवकों में से 9 अनपढ़ हैं। 7 नगरसेवक पांचवीं पास हैं। 14 नगरसेवक 8 वीं कक्षा पास हैं। 10 नगरसेवक 10 वीं और 19 नगरसेवक 12 वीं कक्षा पास है। 10 नगरसेवक ग्रेजुएट और 1 नगरसेवक पोस्ट ग्रेजुएट हैं।

© Association for Democratic Reforms
Privacy And Terms Of Use
Donation Payment Method