Source: 
Author: 
Date: 
12.03.2021
City: 

तमिलनाडु में 33 फीसदी वर्तमान विधायकों ने अपने खिलाफ आपराधिक मामले घोषित किए हैं. एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स (एडीआर) की रिपोर्ट से यह जानकारी मिली है. ऐसे विधायकों की संख्या 68 है. इनमें से 38 यानी 19 फीसदी विधायकों के खिलाफ गंभीर आपराधिक मामले दर्ज हैं.

गंभीर आपराधिक मामलों का मतलब गैर-जमानती मामलों से है. इनमें पांच साल से ज्यादा कारावास का प्रावधान है. एडीआर की रिपोर्ट के मुताबिक, विधानसभा के 157 यानी 77 फीसदी सदस्यों ने करोड़ों रुपये से ज्यादा की संपत्ति घोषित की है.

राज्य के करीब 89 यानी 44 फीसदी विधायकों की शैक्षणिक योग्यता 5वीं से 12वीं के बीच है. 110 यानी 54 फीसदी विधायक स्नातक और इससे ऊपर की शैक्षणिक योग्यता रखते हैं. तीन विधायकों के पास डिप्लोमा है. इस रिपोर्ट के मुताबिक, 78 यानी 38 फीसदी विधायकों की उम्र 25 से 50 साल के बीच है. 125 यानी 61 फीसदी विधायकों की उम्मर 51 से 70 के बीच है.

राज्य में 17 यानी 8 फीसदी महिला विधायक हैं. बड़े दलों के विधायकों में डीएमक के 86 में से 40 के खिलाफ आपराधिक मामले दर्ज हैं. एआईएडीएमके के 109 में से 23 के खिलाफ आपराधिक मामले हैं. कांग्रेस के 7 में से 4 के खिलाफ आपराधिक मामले दर्ज है.
तमिलनाडु विधानसभा में 234 सीटें हैं. इन सीटों के लिए 6 अप्रैल को चुनाव होंगे. वोटों की गिनती 2 अप्रैल को होगी. अभी राज्य में एडीएआईएमके की सरकार है. राज्य में मुख्य मुकाबल एआईएडीएमके और डीएमके के बीच है. मशहूर अभिनेता कमल हासन एमएनएम भी चुनाव लड़ रही है. उसने 154 सीटों पर उम्मीदवार खड़े करने का एलान किया है.
© Association for Democratic Reforms
Privacy And Terms Of Use
Donation Payment Method