Source: 
Author: 
Date: 
21.04.2019
City: 

पटनाः 23 अप्रैल को बिहार में तीसरे चरण के तहत पांच सीटों पर मतदान होने हैं जिसमें झंझारपुर, सुपौल, अररिया, मधेपुरा, खगड़िया लोकसभा सीट शामिल है। तीसरे चरण में 88.31 लाख 82 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला करेंगे। बिहार इलेक्शन वाच एवं एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्‍स (एडीआर) की रिपोर्ट के अनुसार कुल उम्मीदवारों में से 35 फीसद प्रत्याशी दागी हैं जिनमें 25 प्रत्याशियों पर गंभीर आरोप लगे हुए हैं। 

सबसे कम दागी प्रत्याशी मधेपुरा सीट से 
सुपौल लोकसभा सीट से कांग्रेस प्रत्याशी रंजीता रंजन पर पांच और जदयू प्रत्याशी दिलेश्वर कामत पर दो मुकदमे दर्ज हैं। अररिया में राजद के सरफराज आलम पर छह और भाजपा के प्रदीप कुमार सिंह पर तीन मामले दर्ज हैं। सबसे कम दागी प्रत्याशी मधेपुरा सीट से मैदान में हैं। मधेपुरा सीट से जन अधिकार पार्टी (जाप) के उम्मीदवार राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव पर 31 मुकदमे दर्ज हैं। राजद प्रत्याशी शरद यादव पर तीन और जदयू के दिनेशचंद्र यादव पर एक मामला दर्ज है। 

खगड़िया सीट से निर्दलीय प्रत्याशी पर सबसे अधिक मुकदमे दर्ज 
इसके अतिरिक्त झंझारपुर के राजद प्रत्याशी गुलाब यादव पर दो और जदयू प्रत्याशी रामप्रीत मंडल पर एक मामला दर्ज है। निर्दलीय प्रत्याशी ओम प्रकाश पोद्दार पर तीन, गणपति झा पर दो और बब्लू गुप्ता पर एक मुकदमा दर्ज है। खगड़िया लोकसभा सीट से निर्दलीय प्रत्याशी नागेंद्र सिंह त्यागी पर सबसे अधिक सात मामले दर्ज हैं। वहीं लोजपा के चौधरी महबूब अली कैसर पर एक और महागठबंधन की ओर से विकासशील इंसान पार्टी (वीआईपी) के प्रत्याशी मुकेश सहनी पर चार मुकदमे दर्ज हैं।

बता दें कि बिहार की 40 लोकसभा सीटों पर सात चरणों में चुनाव होने हैं। पहले चरण के तहत चार और दूसरे चरण के तहत पांच लोकसभा सीटों पर मतदान हो चुके हैं। 23 अप्रैल को बिहार में तीसरे चरण के तहत पांच सीटों पर मतदान होने हैं जिसको लेकर प्रचार का सिलसिला रविवार शाम पांच बजे तक थम जाएगा।

© Association for Democratic Reforms
Privacy And Terms Of Use
Donation Payment Method