Source: 
MSN
Author: 
City: 

नवनिर्वाचित 57 राज्यसभा सदस्यों में से 23 यानी लगभग 40 फीसदी के खिलाफ आपराधिक मामले दर्ज हैं। इनमें से नौ सांसद भाजपा और चार कांग्रेस से हैं। चुनाव अधिकार समूह एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स (एडीआर) द्वारा गुरुवार को जारी रिपोर्ट में यह जानकारी सामने आई।

इनमें से छह सांसद उत्तर प्रदेश, चार-चार महाराष्ट्र और बिहार, तीन तमिलनाडु, दो तेलंगाना और आंध्र प्रदेश, छत्तीसगढ़, राजस्थान व हरियाणा से एक-एक सांसद चुने गए हैं। इन्होंने चुनावी हलफनामे में अपने खिलाफ आपराधिक मामले घोषित किए हैं। कुल 12 सांसदों पर ‘गंभीर आपराधिक मामले दर्ज हैं।

रिपोर्ट में कहा गया है, दोनों नवनिर्वाचित टीआरएस सांसदों और राजद से चुने गए दो सदस्यों ने अपने खिलाफ आपराधिक मामले घोषित किए हैं। वाईएसआरसीपी, डीएमके, अन्नाद्रमुक, सपा, शिवसेना के एक-एक सांसद और एक निर्दलीय ने अपने खिलाफ आपराधिक मामले घोषित किए हैं।

53 सांसद करोड़पति

नवनिर्वाचित 53 सांसद करोड़पति हैं। टीआरएस सांसद बंदी पार्थ सारधी इस सूची में सबसे ऊपर हैं, जिनकी कुल संपत्ति 1,500 करोड़ रुपये से अधिक है। दूसरे स्थान पर, पूर्व कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल हैं। उनकी कुल संपत्ति 608 करोड़ रुपये से अधिक थी। आप के विक्रमजीत सिंह साहनी 498 करोड़ रुपये की संपत्ति के साथ तीसरे स्थान पर हैं। वहीं, नवनिर्वाचित सांसदों की औसत संपत्ति मूल्य 154.27 करोड़ रुपये है।

© Association for Democratic Reforms
Privacy And Terms Of Use
Donation Payment Method