Source: 
Author: 
Date: 
06.11.2018
City: 

भोपाल मध्य प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए कांग्रेस और बीजेपी के उम्मीदवारों के नामों का ऐलान होने का दौर जारी है। अभी तक जिन उम्मीदवारों के नाम घोषित हुए हैं, उनमें से बीजेपी के उम्मीदवारों की तुलना में कांग्रेस के दोगुने ऐसे उम्मीदवार हैं, जिन पर थानों में मामले दर्ज हैं। असोसिएशन ऑफ डेमोक्रैटिक रिफॉर्म ने उम्मीदवारों द्वारा पेश किए गए हलफनामों का विश्लेषण कर मंगलवार को रिपोर्ट जारी की है, जिसमें यह बात सामने आई है। रिपोर्ट के अनुसार, बीजेपी ने 177 और कांग्रेस ने 171 उम्मीदवारों के नामों को ऐलान किया है। उनमें से बीजेपी के 36 उम्मीदवारों पर मामले दर्ज हैं, वहीं कांग्रेस के 67 उम्मीदवारों पर केस दर्ज हैं। एडीआर की रिपोर्ट के अनुसार, प्रतिशत के लिहाज से देखा जाए तो बीजेपी ने 22 प्रतिशत आपराधिक प्रवृत्ति के लोगों को उम्मीदवार बनाया है, जबकि कांग्रेस में आपराधिक प्रवृत्ति के उम्मीदवारों का प्रतिशत 41 है। इसी तरह बीजेपी ने 71 प्रतिशत और कांग्रेस ने 72 प्रतिशत करोड़ पति को मैदान में उतारा है। बता दें कि पिछले दिनों सोशल मीडिया पर मध्य प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ का एक विडियो वायरल हुआ था। इस विडियो में कमलनाथ कहते हुए नजर आ रहे थे, 'कोई कहता है इसके ऊपर तो चार केस हैं। मैं तो कहता हूं होएं बड़े पांच। मैं तो बड़े स्पष्ट रूप से कहता हूं कि मुझे तो जीतने वाला चाहिए।' इस विडियो को भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के ऑफिशल ट्विटर हैंडल के साथ-साथ मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी शेयर किया था। गैरतलब है कि मध्य प्रदेश में आगामी विधानसभा चुनाव के मद्देनजर प्रमुख पार्टियों ने अपने उम्मीदवारों के ऐलान कर रही है। अबतक बीजेपी ने कुल 177 उम्मीदवारों के नामों को ऐलान किया है। जबकि कांग्रेस ने कुल 171 उम्मीदवारों के नामों की घोषणा की है। राज्य की कुल 230 विधानसभा सीटों के लिए 28 नवंबर को मतदान होना है, जिसके परिणाम 11 दिसंबर को आएंगे।

© Association for Democratic Reforms
Privacy And Terms Of Use
Donation Payment Method