Source: 
Author: 
Date: 
09.04.2019
City: 

इस बार के लोकसभा चुनाव में दो प्रत्याशी ऐसे भी हैं, जिनके बीच हो रहा मुकाबला राजा और रंक की तरह है. इनमें से एक प्रत्याशी के पास करोड़ों की संपत्ति है तो दूसरे के पास सिर्फ 500 रुपये हैं.

नई दिल्ली: एक ओर जहां लोकसभा चुनाव अपने आप में दिलचस्प है, वहीं इससे जुड़े कुछ मामले इसे और भी खास बनाते हैं. ऐसा ही हाल है पहले चरण में शामिल होने जा रही तेलंगाना की चेवेल्ला लोकसभा सीट का. इस सीट पर आंकड़ों के लिहाज से काफी रोचक मुकाबला होने जा रहा है. वजह है अमीर और फकीर के बीच की चुनावी लड़ाई.

इलेक्शन वॉच और असोसिएशन फॉर डेमोक्रैटिक रिफॉर्म्स की रिपोर्ट में उम्मीदवारों के हलफनामे जिक्र किया गया है. ये रिपोर्ट बताती है कि किस उम्मीदवार के पास कितनी संपत्ति है. रिपोर्ट में दिखाए मुताबिक तेलंगाना की चेवेल्ला सीट के एक उम्मीदवार के पास 895 करोड़ की संपत्ति है तो दूसरी ओर इस सीट का एक उमीदवार ऐसा भी है जिसके पास सिर्फ 500 रुपये हैं. धन-दौलत का ये ब्यौरा हलफनामे में दर्ज है.

बता दें कि एडीआर की रिपोर्ट में पहले चरण में चुनाव लड़ रहे 1279 में से 1266 उम्मीदवारों के शपथपत्रों का डिटेल दी गई है. इसमें राष्ट्रीय पार्टियों से 225, राज्य स्तरीय दलों से 124, गैर मान्यता प्राप्त दलों से 364 और 553 निर्दलीय उम्मीदवार का डाटा है. चुनाव लड़ रहे कैंडिडेट्स में से 32 प्रतिशत नाम ऐसे हैं जो करोड़पति हैं. इन सभी उम्मीदवारों की औसतन संपत्ति लगभग 6.63 करोड़ रुपये है.

इस रिपोर्ट में दर्ज नामों में सबसे अमीर उमीदवार कोंडा विश्वेश्वर रेड्डी हैं. रेड्डी कांग्रेस उम्मीदवार हैं जो चेवेल्ला सीट से चुनाव लड़ रहे हैं. रेड्डी कुल 895 करोड़ की संपत्ति के धनी हैं. रेड्डी के पास 856 करोड़ की चल संपत्ति और 38 करोड़ से ज्यादा अचल संपत्ति मौजूद है.

चेवेल्ला सीट से रेड्डी को टक्कर देने वालों में कई नाम शामिल हैं, लेकिन प्रतिद्वंदी नल्ला प्रेम कुमार के साथ बन रही जोड़ी खास है. नल्ला प्रेम कुमार, रेड्डी के खिलाफ चुनाव लड़ रहे हैं. प्रेम कुमार के पास मौजूदा संपत्ति सिर्फ 500 रुपये है. आंकडों के हिसाब से ये मुकाबला बहुत ही खास हो चुका है.

© Association for Democratic Reforms
Privacy And Terms Of Use
Donation Payment Method