Source: 
Vistaar News
https://vistaarnews.com/india/adr-report-complete-account-of-earnings-of-bjp-congress-aap-and-political-parties/
Author: 
राकेश कुमार
Date: 
29.02.2024
City: 

पिछले साल भाजपा, कांग्रेस, आम आदमी पार्टी, बहुजन समाज पार्टी, भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्सवादी) और नेशनल पीपुल्स पार्टी ने सामूहिक रूप से 3,077 करोड़ रुपये कमाए हैं.

ADR Report: लोकसभा चुनाव में कुछ दिन शेष है लेकिन पार्टियों ने अभी से ही तैयारी शुरू कर दी है. जगह-जगह होडिंग्स, बैनर और पोस्टर लगने शुरू हो गए हैं. विज्ञापन पर करोड़ों रुपये उड़ाए जा रहे हैं. लेकिन सबसे बड़ा सवाल ये है कि ये राजनीतिक पार्टियां पैसा कहां से कमाती है? चुनाव और राजनीतिक पार्टियों पर नजर रखने वाली संस्था एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स (ADR) की रिपोर्ट के अनुसार, साल 2022-23 में देशभर की छह राष्ट्रीय पार्टियों ने खूब कमाई की. जानकारी के मुताबिक, 6 राष्ट्रीय राजनीतिक पार्टियों ने 3,077 करोड़ रुपये से ज्यादा की कमाई की है.

BJP ने की सबसे ज्यादा कमाई

इन छह पार्टियों में बीजेपी, कांग्रेस, आम आदमी पार्टी, बसपा, सीपीएम और एनसीपी शामिल हैं. इन सभी में सबसे ज्यादा कमाई करने वाली पार्टी बीजेपी है.अकेले बीजेपी ने पिछले वित्त वर्ष में कुल 2,061 करोड़ रुपये कमाए. रिपोर्ट के मुताबिक, 2022-23 में बीजेपी की कमाई 77 फीसदी तक बढ़ गई. 2021-22 में बीजेपी ने 1,917 करोड़ रुपये की कमाई की थी. एडीआर रिपोर्ट में 2022-23 के दौरान पूरे भारत में राष्ट्रीय पार्टियों की कुल आय और व्यय का विश्लेषण किया गया है. इसमें पार्टियों द्वारा चुनाव आयोग को सौंपी गई डेटा का इस्तेमाल किया गया है.

तीन पार्टियों को मिला चुनावी बॉन्ड से चंदा

पिछले साल भाजपा, कांग्रेस, आम आदमी पार्टी, बहुजन समाज पार्टी, भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्सवादी) और नेशनल पीपुल्स पार्टी ने सामूहिक रूप से 3,077 करोड़ रुपये कमाए हैं. बीजेपी को इस राशि का 75% से अधिक हिस्सा मिला, जबकि कांग्रेस 15% (452.37 करोड़ रुपये) के साथ दूसरी सबसे बड़ी कमाई करने वाली पार्टी बनी. इन सभी पार्टियों में केवल बीजेपी, कांग्रेस और आम आदमी पार्टी को चुनावी बॉन्ड से धन मिला है.

बता दें कि साल 2018 में मोदी सरकार ने चुनावी बॉन्ड से राजनीतिक दलों को दान देने की वकालत की थी. यानी दाता की पहचान जनता के सामने उजागर नहीं की जाएगी. हालांकि, सुप्रीम कोर्ट ने इस महीने चुनावी बॉन्ड को रद्द कर दिया. एससी ने कहा कि चुनावी बांड नागरिकों के सूचना के अधिकार का उल्लंघन करते हैं.

आय से अधिक कांग्रेस-AAP का खर्च

छह पार्टियों में से केवल कांग्रेस और AAP ने ही वित्तीय वर्ष के दौरान अपनी आय से अधिक खर्च किया. रिपोर्ट के अनुसार, कांग्रेस की कुल आय 452.37 करोड़ रुपये थी, जबकि उसने 467.13 करोड़ रुपये खर्च किए. इसी तरह आम आदमी पार्टी ने भी अपनी कमाई से ज्यादा खर्च डाले. एक रिपोर्ट के मुताबिक, पिछले साल जब राहुल गांधी भारत जोड़ो यात्रा पर थे. तब कांग्रेस को प्रति दिन लगभग 50 लाख रुपये का नुकसान हुआ. कांग्रेस के दस्तावेजों के अनुसार, प्रति किलोमीटर औसतन 1.59 लाख रुपये खर्च किए.

© Association for Democratic Reforms
Privacy And Terms Of Use
Donation Payment Method