Source: 
Jagran News
https://www.jagran.com/elections/lok-sabha-lok-sabha-election-2024-in-the-third-phase-of-elections-only-9-percent-of-the-total-candidates-are-women-in-the-electoral-fray-23708848.html
Author: 
Jagran News
Date: 
01.05.2024
City: 

Lok sabha Election 2024 लोकसभा चुनाव के दो चरणों का मतदान हो चुका है। तीसरे चरण का मतदान 7 मई को होगा। अगले चरण के चुनाव में सिर्फ कुल प्रत्याशियों में से 9 फीसदी महिलाएं चुनावी मैदान में अपनी राजनीतिक किस्मत आजमा रही हैं। इससे पहले दो चरणों के मतदान में भी आधी आबादी की भागीदारी सिर्फ 8 फीसदी थी। पढ़िए रिपोर्ट।

Lok sabha Election चुनाव डेस्क, नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव के दो चरण का मतदान संपन्न हो चुका है। तीसरे चरण की तैयारियां तेज हो गई हैं। तीसरे चरण के चुनाव का मतदान 7 मई को होगा। इस चरण में कुल 1352 उम्मीदवारों की चुनावी किस्मत दांव पर लगी हुई है। इन उम्मीदवारों में सिर्फ 123 महिला प्रत्याशी चुनाव लड़ रही हैं। इनकी यह संख्या तीसरे चरण के कुल उम्मीदवारों का केवल 9 फीसदी है।

महिला प्रत्याशियों की कम संख्या चिंताजनक स्थिति को दर्शाती है। इससे पहले प्रथम और द्वितीय चरण के मतदान को मिलाकर सिर्फ 8 फीसदी महिला उम्मीदवार ही मैदान में थीं। दोनों चरणों के कुल 2823 प्रत्याशी चुनावी मैदान में रहे। इनमें महिलाओं की भागीदारी सिर्फ 235 रही।

पहले दो चरण में 235 महिला प्रत्याशियों ने आजमाई किस्मत

पहले चरण में 135 महिला उम्मीदवार चुनाव के पहले चरण में मैदान में रहीं। वहीं दूसरे चरण की बात की जाए तो इस चरण में 100 महिला उम्मीदवारों ने चुनाव लड़ा। पहले चरण में कुल उम्मीदवारों की संख्या 1625 रही। वहीं दूसरे चरण में 1198 उम्मीदवारों ने चुनाव लड़ा।

पहले चरण में 135 महिला उम्मीदवारों में से, तमिलनाडु की हिस्सेदारी सबसे अधिक 76 थी। हालांकि यह आंकड़ा राज्य के कुल उम्मीदवारों का सिर्फ आठ प्रतिशत था। दूसरे चरण में केरल में महिला उम्मीदवारों की संख्या सबसे अधिक 24 थी।

बीजेपी से 69 और कांग्रेस से 44 महिलाएं चुनावी मैदान में

पहले दोनों चरणों के चुनावमें भाजपा की तरफ से महिला उम्मीदवारों का प्रतिनिधित्व ज्यादा देखने को मिला। भाजपा ने जहां 69 महिलाओं को मैदान में उतारा वहीं कांग्रेस ने दोनों चरणों में 44 महिलाओं को मौके दिए। राजनीति में इस लैंगिक असंतुलन पर राजनीतिक विश्लेषकों का कहना है कि दलों को महिला आरक्षण अधिनियम के लागू होने का इंतजार न कर सक्रिय रूप से महिलाओं को मैदान में उतारना चाहिए।

तीसरे चरण का मतदान 7 मई को, यूपी से 100 प्रत्याशी मैदान में

7 मई को तीसरे चरण का मतदान होगा। इसमें 12 राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों की 94 लोकसभा सीटों पर वोटिंग होगी। गौरतलब है कि इसी चरण में गुजरात की सभी 26 सीटों पर चुनाव होंगे। इससे पहले केरल में दूसरे चरण में एकसाथ सभी 20 सीटों पर मतदान हुआ था। उत्तर प्रदेश की बात की जाए तो लोकसभा चुनाव के तीसरे चरण में उत्तर प्रदेश में विभिन्न राजनीतिक दलों के 100 प्रत्याशी चुनावी मैदान में हैं।

© Association for Democratic Reforms
Privacy And Terms Of Use
Donation Payment Method