Source: 
Navbharat Times
http://navbharattimes.indiatimes.com/articleshow/11444977.cms
Date: 
11.01.2012
City: 
New Delhi

अभी तो चुनाव आयोग के मूर्तियों के ढकने के आदेश से ही मायावती विवादों में थीं लेकिन एक रिपोर्ट ने मायावती को फिर चर्चा में ला दिया है। चुनाव आयोग को सौंपे अपनी संपत्ति के ब्योरे में मायावती ने 87 करोड़ रुपए का खुलासा किया है।

असोसिएशन फॉर डैमोक्रेटिक रिफॉर्म्स के इकट्ठे किए गए आंकड़ों के अनुसार, जिन पांच राज्यों में चुनाव हो रहे हैं, उनमें वह सबसे अमीर मुख्यमंत्री हैं। इसमें से लगभग 74 करोड़ की जमीन जायदाद की मालकिन हैं मायावती। ध्यान देने की बात यह है कि मायावती उस राज्य की मुख्यमंत्री हैं जहां संख्या के हिसाब से देश के सबसे ज्यादा गरीब लोग रहते हैं।

पंजाब के प्रकाश सिंह बादल और गोवा के मुख्यमंत्री दिगंबर कामत भी करोड़पति हैं लेकिन वह उनसे काफी पीछे हैं और उन्होंने क्रमश: 9.2 करोड़ और 3.23 करोड़ की संपत्ति का ब्योरा दिया है।

100 शपथ पत्रों में से 41 मंत्री करोड़पति पाए गए हैं। इनमें से 83 प्रतिशत करोड़पति पंजाब से 67 प्रतिशत गोवा से और 37 प्रतिशत यूपी से पाए गए हैं। इन्हीं 100 शपथ पत्रों में 17 मंत्रियों ने इस बात का भी खुलासा किया है कि उनके खिलाफ हत्या और हत्या का प्रयास जैसे गंभीर मामले अदालतों में हैं। 

इस लिस्ट में यूपी 46 प्रतिशत के साथ सबसे आगे है जिनमें 30 प्रतिशत मंत्रियों पर गंभीर आपराधिक मामले अदालतों में हैं। इस रिपोर्ट से यह भी पता चला है कि यूपी के नेता विधानसभा से सबसे ज्यादा गायब रहते हैं। उनकी उपस्थिति मात्र 20 प्रतिशत ही रही है। इस लिस्ट में उत्तरांचल 91 प्रतिशत के साथ टॉप पर है।

© Association for Democratic Reforms
Privacy And Terms Of Use
Donation Payment Method