Source: 
IBN Khabar
http://khabar.ibnlive.in.com/news/117714/17/
Date: 
20.03.2014
City: 
New Delhi
नई दिल्ली। आईबीएन7 और एडीआर यानी एसोसिएशन ऑफ डेमोक्रेटिक रिफॉर्म ने अलग-अलग सांसदों का सर्वे कर उनका रिपोर्ट कार्ड तैयार किया है। इस सर्वे के आधार पर आईबीएन7 सांसदों को 10 अंकों के पैमाने पर कई तरह की कसौटियों पर कसा है। ऐसी तमाम कसौटियों पर कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के काम को उनके क्षेत्र अमेठी की जनता कितना अच्छा या खराब मानती है।

राहुल का रिपोर्ट कार्ड- 43 साल के राहुल गांधी कांग्रेस उपाध्यक्ष हैं और कांग्रेस पार्टी की ओर से प्रधानमंत्री पद के अघोषित दावेदार। वो पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी और सोनिया की पहली संतान हैं। राहुल ने दिल्ली के सेंट कोलंबस, दून स्कूल, और हॉवर्ड यूनिवर्सिटी से पढ़ाई की। 2004 में अमेठी से पहली बार चुनाव लड़े सांसद बने। 2007 में कांग्रेस के महासचिव और 2013 में पार्टी के उपाध्यक्ष बने।

एमपी के रिपोर्ट कार्ड की आईबीएन7 की पहली कसौटी अमेठी की जनता तक पहुंच के मामले में राहुल गांधी को 10 में से 5.12 अंक मिले हैं। नौजवानों को रोजगार मुहैया कराने के मुद्दे पर 5.78 अंक तो चिकित्सा व्यवस्था के नाम पर अमेठी ने राहुल को 10 में से 6.14 अंक दिए। कानून व्यवस्था को लेकर अमेठी की जनता ने राहुल को 4.41 अंक ही दिए। सार्वजनिक परिवहन सुविधा के नाम पर 4.70 अंक मिले तो सड़कों के नाम पर 6.90। स्कूल की सुविधा के मामले में 6.80 अंक मिले तो पीने के पानी को लेकर केवल 4.86 अंक।

महिला सुरक्षा के नाम पर राहुल को अमेठी ने 10 में से 5.80 अंक दिए। जहां तक सांसद पर भरोसे का सवाल है तो राहुल को 4.31 अंक मिले। इन तमाम मुद्दों और कसौटियों पर बतौर सांसद हमारे सामने राहुल का पूरा रिपोर्ट कार्ड था। इस रिपोर्ट कार्ड में राहुल को 10 के पैमाने पर फाइनल रेटिंग 5.58 अकों की मिली। इस लिहाज से बतौर सांसद राहुल का प्रदर्शन 50 प्रतिशत के कुछ ज्यादा ही ठहरता है।

Donate       

© Association for Democratic Reforms
Privacy And Terms Of Use
Donation Payment Method